लेख हिंदी

पिंक व्हेल – ब्लू व्हेल चैलेंज गेम का सकारात्मक पर्याय

Pink Blue Green Red Whale Game Challenge India
baleiarosa.com.br

ब्लू व्हेल गेम का डर पुरे देश में फैला हुआ है, न्यूज़ में, पेपर में आये दिन ब्लू व्हेल चैलेंज गेम के युवा शिकार के शिकार के बारे पढ़ते हैं| आखिर ये ब्लू व्हेल गेम क्या है? हम इस लेख में ब्लू व्हेल चैलेंज गेम और उसके सकारात्मक पर्याय पिंक व्हेल के बारे में पूरी जानकारी देंगे| तो चले पहले अच्छी खबर पढ़ते है|

बेलीया रोसा पुर्तगाली शब्द है और उसका अर्थ है “गुलाबी व्हेल”, या “पिंक व्हेल”| यह एक ऑनलाइन चैलेंज गेम है जो कुख्यात ब्लू व्हेल चैलेंज गेम के विपरीत है| ब्लू व्हेल चैलेंज गेम किशोरोंको स्वयं को नुकसान पहुंचाने या आत्महत्या करने के लिए मजबूर करता है। बेलीया रोसा या पिंक व्हेल चैलेंज का कहना है (पुर्तगाली में),

“Com o intuito de provar que a internet pode ser usada
para viralizar o bem, nasceu a Baleia Rosa.
Espalhe o amor nesse desafio do bem!”

अंग्रेजी में इसका मतलब होता है
“The goal is to prove that the internet can also be used
to spread love, that’s why the Pink Whale was borned.
Share love with this challenge!”

और हिंदी में
“हमारा लक्ष्य यह साबित करना है कि इंटरनेट का उपयोग प्यार का प्रसार करने के लिए भी किया जा सकता है, यही कारण है कि गुलाबी व्हेल का जन्म हुआ।
इस चुनौती से प्रेम साझा करें! “

पिंक व्हेल चैलेंज क्या है?

पिंक व्हेल चैलेंज एक ऑनलाइन चुनौती गेम है जहां अलग अलग दैनिक चैलेंज में भाग ले सकते है, अभी कुल ५० चैलेंज हैं। (यहां आप पिंक व्हेल चुनौतियों की पूरी सूची पा सकते हैं) गेम खेलने वाले के जिंदगी में खुशी, सकारात्मकता और उदारता का प्रसार करना पिंक व्हेल चैलेंज का लक्ष्य है| यह कुख्यात ब्लू व्हेल चैलेंज गेम से बिल्कुल विपरीत है जो प्रतिभागियों के दिमाग में स्व-नुकसान और आत्मघाती विचार को बढ़ावा देता है। सारी दुनिया में और भारत में ब्लू व्हेल गेम के कारण बहुत सी मौतें हुई हैं।

पिंक व्हेल चैलेंज (बीलिया रोजा) अप्रैल २०१७ में शुरू हुई और दुनिया भर में अच्छी लोकप्रियता प्राप्त कर रही है। बेलिया रोसा की आधिकारिक वेबसाइट http://baleiarosa.com.br है जो अब तीन भाषाओं में उपलब्ध है; ब्राजीली पुर्तगाली, अंग्रेजी, और इस्पेनॉल| वेबसाइट के ऊपरी बाईं ओर भाषा स्विचर को चेक करें। दाईं ओर आप सेलिना गोमेज़ का हिट गाना “हू सेज़” का एक लिंक मिलेगा, यह एक बहुत ही प्रेरणादायक गीत है, यूट्यूब पर जरूर सुनिए या देखिये।

उनका फेसबुक पेज “@eusobaleiarosa” पर अच्छे रिव्यूज है, आज के दिन २८८,४९४ लोगोने इसे पसंद किया है और ३००,९३२ लोग इसे फॉलो भी करते है। उनका इंस्टाग्राम और ट्विटर एकाउंट्स भी है, वे यहां गेम सम्बन्धी जानकारी और प्रेरणादायी सन्देश शेअर करते है| हालांकि सोशल मीडिया अकाउंट की सामग्री पुर्तगाली में है, लेकिन अच्छी बात है कि एंड्रॉइड और आईओएस ऐप अंग्रेजी में हैं।

पिंक व्हेल चैलेंज के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न

पिंक व्हेल चैलेंज गेम डाउनलोड कैसे करें

इससे पहले पिंक व्हेल चैलेंज आईट्यून्स और प्लेस्टोर पर उपलब्ध नहीं था लेकिन अब यह एंड्रॉइड और आईओएस दोनों प्लेटफार्मों पर उपलब्ध है। खेल के दोनों संस्करण अंग्रेजी में उपलब्ध हैं आप एप्लिकेशन इंस्टालेशन की बाकी प्रक्रिया जानते ही हैं, तो में इसके बारेमे ज्यादा नहीं बताऊंगा। निचे लिंक हैं

https://play.google.com/store/apps/details?id=br.com.espalheobemsempre.androidApp
https://itunes.apple.com/us/app/baleia-rosa-app-oficial/id1231890576?l=pt&ls=1&mt=8

पिंक व्हेल चैलेंज की सूची
इस गेम में आसान और मजेदार चुनौतियां हैं, जैसे आपने जिनके साथ लंबे समय तक बात नहीं की है, ऐसे दोस्त को कॉल करना, अपने फेसबुक पर “मैं सुंदर हूँ” लिखना, २२ सेकंड के अंदर पिंक व्हेल सीधे और रिवर्स लिखना। ४० वीं चुनौती बादलों में आकृतियों को ढूंढने के लिए कहती है और आखिरी ५०वा चैलेंज “सेव ए लाइफ” किसीकी जान बचने के लिए पूछता है।

हमने अलग लेख मैं इन सब ५० चैलेंजेज की लिस्ट बनायीं है, यह लिस्ट अंग्रेजी में है, हम कोशिश करेंगे की इसका हिंदी अनुवाद भी कर सकें…

ब्लू व्हेल चैलेंज गेम क्या है?
पिंक व्हेल गेम के बारे में सब पढ़ने के बाद, मुझे शक है कि कोई भी कुख्यात ब्लू व्हेल गेम के लिए जाएंगे। फिर भी आप अगर गेम की लिंक खोजना चाहते हैं तो भी आप ढूंढ नहीं पाएंगे। चूंकि यह ब्लू व्हेल चैलेंज वाला गेम , ऐप स्टोर पर उपलब्ध नहीं है, साथ ही भारत सरकार ने सोशल मीडिया और प्रसिद्ध वेबसाइ जैसे गूगल, फेसबुक, इंस्टाग्राम, याहू को इस खेल की लिंक्स को हटाने का सुझाव दिया है। यह खेल निजी समूहों में अलग-अलग नामों के साथ प्रसारित किया जाता है, ज्यादातर रूस (रशिया) से। प्रतिभागियों ने गेम ढूंढने की बजाए, व्यवस्थापक (एडमिन्स) खेल के लिए कमजोर किशोर (टीनेजर्स ) शिकार का पता लगाते है। ब्लू व्हेल खेल का २१ वर्षीय निर्माता अब सलाखों के पीछे है, इसलिए अब गेम अपने निर्माता के नियंत्रण में भी नहीं है। ब्लू व्हेल गेम की ५० चैलेंजेज आत्म-हानि और आत्मघाती विचारों के लिए कुविख्यात हैं। इस गेम ने चीन में “ह्यूमन एम्ब्रॉयडरी” नामक एक नए स्वयं-हानि प्रवृत्ति गेम को भी उकसाया, जहां चीन के युवा लोग अपने अंगों पर अपने त्वचा में धागे से सिलाई करते हैं और होटों पर भी। इससे भी बदतर बनाने के लिए, वे रंगीन धागे, मोती और रिबन का उपयोग कर इसे फैशनेबल बनाने की कोशिश करते हैं।

हम अपने सभी पाठकों से अनुरोध करते हैं कि ब्लू व्हेल चैलेंज गेम का बिल्कुल उपयोग न करे , यह आपके लायक नहीं है।

याद रखें कि जीवन सुंदर है, आपको समस्याएँ हो सकती हैं, यह किशोरावस्था में होता है| रोमांटिक रिश्ते की समस्या, अध्ययन या करियर का दबाव, सामाजिक और पारिवारिक दबाव, माता-पिता की समस्या या वित्तीय समस्या भी होतीं है पर इसका मतलब यह नहीं की आप अपनी जान गवांदे। दोस्तों, यह जीवन का एक चरण है, यह समय के साथ दूर हो जाएगा| दुनियामे ऐसे बुरे लोग हैं जो आपकी इस स्थिति का लाभ उठाने की कोशिश करते हैं। उन्हें अपने जीवन का नियंत्रण न दें| हो सकें तो किसीसे बात कीजिये, मशवरा लीजिये, समस्यांओसे लढ़िये पर किसी गेम के कारण अपनी जाम जोखम में मत डालिये|

मैं पिंक व्हेल गेम के लिए विज्ञापन नहीं कर रहा हूं, लेकिन यह गेम सकारात्मकता को बढ़ावा देने की कोशिश कर रहा है, इस गेम को पूरा करने के लिए कोई मजबूर नहीं है। यह मस्ती के लिए है … तो खुश रहो …

टीनेज डिप्रेशन असली दुश्मन है, ब्लू व्हेल जैसे गेम ऍप्स नहीं

टीनेज डिप्रेशन एक वास्तविक समस्या है, लेकिन हम भारतीय लोग मूल कारणों का इलाज नहीं कर रहे हैं। ब्लू व्हेल जैसे खेल बस एक ऍप हैं, इसे बैन करनेसे कुछ नहीं होगा; यह वास्तविक समस्या नहीं है। भारत में, माता-पिता किशोरों के साथ बातचीत नहीं करते हैं, वे इनको या तो बच्चे या वयस्क के रूप में देखते है, जो ठीक नहीं है; वे किशोर (टीनेजर्स ) हैं | यह जीवन का चरण है जहां परिवार और मित्रों की समर्थन की आवश्यकता होती है। यह वह चरण है जहां टीनेजर्स खुदकी तलाश करना चाहते है, स्वतंत्रता चाहते हैं, नहीं मिले तो वे विद्रोह करतें है| हमें, समाज और माता-पिता को यह समझने की ज़रूरत है कि टीनेजर्स के साथ अलग तरह से व्यवहार करने की जरूरत है, हमें माता-पिता या शिक्षकों के जैसा नहीं दोस्तों की तरह होना चाहिए।

समाधान

मैं कोई मनोचिकित्सक नहीं हूं, लेकिन मैं अक्सर किशोरों के मुद्दोंपर निरिक्षण करता हूं तो ये संभव समाधान हो सकते हैं|

  • माता-पिता को टीनेजर्स से बात करना चाहिए और उनके दृष्टिकोण को समझने की कोशिश करना चाहिए। उन्हें बच्चों पर अपने विचारोंको थोपना नहीं चाहिए
  • टीनेजर्स अपने यौन अन्वेषण के एक चरण में होते हैं| भारत में, हमारे पास औपचारिक यौन शिक्षा नहीं है और इसके बारे में भी बात करना निषिद्ध है। सिर्फ कुछ खेल पर प्रतिबंध लगाने के बजाय, माता-पिता को टीनेजर्स से बात करने की जरूरत है, भारतीय शिक्षा प्रणाली को समय के साथ बदलना चाहिए।
  • हम उनसे फोन नहीं छीन सकते हैं, लेकिन हम देख सकते हैं कि वे क्या खेल रहे हैं, फोन पर उनका व्यवहार कैसा है, लेकिन उनकी गोपनीयता का सम्मान करके|
Liked the Post? then Rate it Now!!
[Total: 0 Average: 0]

Didn't find what you were looking for?

Leave a Comment

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

About the author

Sueniel

He is a techie, geek or you can call him a nerd too. He likes to read, observe stuff and write about it. As Simple as that...

He is also CEO and Co-Founder of TeenAtHeart.